Thursday, June 11, 2009

एक चाहत








एक चाहत
जो वक्त से
जूझना चाहती है
हालात से
लड़ना चाहती है
अपनी औक़ात भुलाकर …

2 comments:

Dhiraj Shah said...

मै एक फोटोग्राफर हूँ |
आप के चित्र आप के कला को दर्शाते है
मै कोई पारखी नहीं ,
आप के चित्र व पंक्तियों मे कला और दर्शन दोनों का मेल है |

Science Bloggers Association said...

चाहत तो ऐसी होनी ही चाहिए, वर्ना वह चाहत कैसी।

-Zakir Ali ‘Rajnish’
{ Secretary-TSALIIM & SBAI }